नर्मदापुरम: नेशनल लोक अदालत में 26 खण्डपीठों ने निपटाये 689 मामले

  • वर्ष 2023 की तृतीय नेशनल लोक अदालत संपन्न हुई

नर्मदापुरम। राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं मध्यप्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार एवं माननीय प्रधान जिला एवं सेशन न्यायाधीश  सतीश चंद्र शर्मा महोदय के मार्गदर्शन एवं सचिव गौतम भट्ट जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के नेतृत्व में शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नर्मदापुरम द्वारा जिला न्यायालय नर्मदापुरम सहित तहसील न्यायायालयों इटारसी पिपरिया, सोहागपुर, सिवनीमालवा में किया गया। नेशनल लोक अदालत का उद्घाटन प्रधान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नर्मदापुरम के अध्यक्ष एवं प्रधान जिला एवं सेशन न्यायाधीश सतीश चंद्र शर्मा द्वारा मा सरस्वती की मूर्ति पर माल्यापर्ण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया गया।

नेशनल लोक अदालत के उद्घाटन एवं शुभारभ कार्यक्रम में जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष  विजेन्द्र पाण्डेय प्रधान न्यायाधीश कुटुम्ब न्यायालय  प्रिर्यदर्शन शर्मा विशेष न्यायाधीश हितेन्द्र कुमार मिश्रा, जिला न्यायाधीश जफर इकबाल,  अभिनव कुमार जैन, श्रीमती आरती ए शुक्ला, सिराज अली, सचिव गौतम भट्ट जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्रम न्यायाधीश  फरोज अख्तर, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्रीमति रितु वर्मा कटारिया, सिविल जज सीनियर डिवीजन  शिवचरण पटेल, सिविल जज जूनियर डिवीजन, श्रीमती प्रियंका रतोनिया सिंह, सुश्री अनुभूति गुप्ता. श्रीमती रूचि पाण्डेय, जिला विधिक सहायता अधिकारी कुछ अंकिता शाडिल्य, जिला अभिभाषक संघ के अध्यक्ष के०के० थापक, लीगल एड डिफेंस काउंसिल श्री सतीश तिवारी, अनंत तिवारी, पंकज तिवारी, मंगली सिंह, पंखुरी बराडिया अधिवक्तागण, जिला अभियोजन कार्यालय के अधिकारीगण तथा जिला न्यायालय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण विद्युत विभाग एवं बैंकों के अधिकारी एवं कर्मचारीगण तथा पक्षकारगण उपस्थित रहे।

उक्त नेशनल लोक अदालत में न्यायालयों में लंबित कुल 689 प्रकरणों का निपटारा किया गया, साथ ही 570 विभिन्न विभागों से संबंधित प्रीलिटिगेशन प्रकरण निपटाये गये। इसी के साथ न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में लगभग राशि रुपये 14,76,04,297 / के अवार्ड पारित किये गये तथा विभागीय प्रकरणों में लगभग राशि रूपये 44,51,465/- रूपये की वसूली हुई।

इस नेशनल लोक अदालत में मोटर दुर्घटना दावा, चैक बाउस, शमनीय अपराध, वैवाहिक मामले, विद्युत चोरी से सबंधित मामलों के साथ-साथ सिविल तथा राजस्व मामले निपटारे के लिए रखे गये थे। जिला न्यायाधीश / सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नर्मदापुरम श्री गौतम भट्ट ने बताया कि इस नेशनल लोक अदालत से न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में कुल 689 प्रकरणों का निराकरण किया गया.

लोक अदालत में पक्षकारों में व्याप्त मतभेद आपसी सुलह एवं समझाईश के माध्यम से समाप्त हो गया है। नेशनल लोक अदालत में पक्षकारों के धन एवं समय दोनों की बचत होती है तथा उन्हें न्यायिक प्रक्रिया से भी छुटकारा मिल जाता है।

Scroll to Top