Eye Flu: क्या काला चश्मा आपको बचा सकता है आई फ्लू से? जानिए सच और झूठ की पर्दाफाश!

Eye Flu Black Glasses: वर्तमान समय में आई फ्लू की समस्या दिन बढ़ती जा रही है और हर कोई इस बीमारी से बच नहीं पा रहा है जिन लोगों को आए शुरू हो जाता है वह अपनी आंखों पर काला चश्मा लगा रहे हैं.

उन लोगों को ऐसा लग रहा है कि यह बीमारी उनके द्वारा किसी और को न फैल जाए परंतु क्या आप जानते हैं कि काला चश्मा लगाना चाहिए या नहीं तो आइए जानते हैं इसलिए एक में आई फ्लू होने पर काला चश्मा लगाना है या नहीं. 

Can Wearing Black Glasses Prevent Conjunctivitis From Spreading: आई फ्लू आंखों का वायरल इंफेक्शन है जिससे कि कई  आंखों में कई तरह की परेशानियां उत्पन्न होती है जैसे आंखों का लाल होना आंखों में जलन आंसू आना पलकों का सूचना सभी शामिल है.

जैसे ही मौसम में बदलाव आ रहा है यह बीमारी तेजी से फैलती जा रही है इसलिए ही आई फ्लू होने वाले मरीजों को यह सलाह दी जा रही है कि वह साफ सफाई का विशेष ध्यान रखें.

लेकिन कुछ लोग और अधिक अपनी आंखों की केयर करने के लिए काला चश्मा लगा रहे हैं और मैं यह मानते हैं कि दूसरों से यह वायरस हमारी आंखों तक नहीं आएगा आइए जानते हैं कि यह तरीका सही है या गलत.

काला चश्मा लगाने से होगा बचाव

हम आपको इस बात की जानकारी देने की आई फ्लू किसी की आंख को देखने से या संक्रमित मरीज से नजरें मिलाने से नहीं फैलता है भले ही आप अपनी आंखों को धूल मिट्टी और तेज रोशनी से बचाने के लिए काले चश्मे का उपयोग कर रहे हैं.

परंतु यह सब एक अफवाह है कि दूसरे लोगों से बचने के लिए आप काले चश्मे का उपयोग करें तो आइए जानते हैं कि डॉक्टर क्यों सलाह देते हैं कि काला चश्मा पहने.

काला चश्मा पहनने की सलाह डॉक्टर क्यों देते हैं?

जो भी व्यक्ति आय पीलू से परेशान है बहस तेज रोशनी के कारण बहुत ज्यादा संस्कृत हो जाते हैं और जैसे ही उनकी आंख में धूल या मिट्टी पड़े तो उनकी तकलीफ और ज्यादा बढ़ने लगती है यदि ऐसी स्थिति में वह काले चश्मे का उपयोग करते हैं तो उन्हें थोड़ी राहत मिल जाती है परंतु आप इस बात पर ध्यान दें कि इसका संक्रमण और इंफेक्शन फैलने से रोकने के लिए कोई भी लेना देना नहीं है क्योंकि काला चश्मा आपको संक्रमण होने से नहीं बचा सकता है

आई फ्लू कैसे फैलता है?

आई फ्लू कंजंक्टिवाइटिस वायरल इंफेक्शन है इस बीमारी से जो भी व्यक्ति पीड़ित रहता है और वह अपने हाथों से अपनी आंखों को खुजलाता है या मिलता है तो उसे अपने हाथ तुरंत साफ करने चाहिए नहीं तो वह भी सेहतमंद व्यक्ति से हाथ मिलाता है.

वह व्यक्ति उन्हीं संक्रमित हाथों से अपनी आंखों को छू लेता है. तो यह वायरस उसको भी हो जाता है उसकी आंखों में देखने से वायरस नहीं होता है बल्कि उसके साथ हाथ मिलाने से आपको यह वायरस हो जाएगा.

जिस व्यक्ति को इस फ्लू हुआ है उसका तोलिया तकिया या बिस्तर का इस्तेमाल आपको नहीं करना चाहिए क्योंकि इसके कारण आपको भी इस बीमारी का सामना करना पड़ सकता है

जानिए आई फ्लू से बचने के लिए क्या कर सकते हैं 

  • यदि आप आई फ्लू की बीमारी की शिकार बन जाते हैं तो आप अपनी आंखों को छूने से बचें यदि आप अपनी आंखें हाथों के द्वारा खोलते हैं तो अपने हाथ को सबसे पहले साबुन से धो लें तभी किसी चीज में हाथ लगाएं.
  • आप अपना तकिया चादर और तोलिया किसी और को इस्तेमाल करने के लिए नहीं दें क्योंकि आपके द्वारा यह बीमारी उनको भी हो सकती है.
  • आपको बिना किसी डॉक्टर की सलाह के आई ड्रॉप या आंखों के कैप्सूल का यूज़ नहीं करना है इसमें हो सकता है कि आपकी आंख जल्दी ठीक ना हो.
  • आपको नियमित तौर पर हाथ धोते रहना है और किसी भी भीड़ भाड़ वाली जगह पर नहीं जाना है.
  • वर्तमान समय में आई फ्लू बहुत तेजी से बढ़ रहा है और इसलिए इसमें हमने उससे बचने के तरीके आपको बता दिए हैं जिनको अपनाकर आप इस बीमारी से बच सकते हैं.
Scroll to Top