Archaeologist खोजिए इतिहास की गुप्त रहस्यों को और बनें ‘आर्कियोलॉजिस्ट’, जानिए उनके शीर्ष कोर्स जो सुनाएंगे आपके भविष्य की कहानी!

Archaeologist: यदि आपको इतिहास विषय में रुचि है तो आप इसमें अपनी कैरियर को भी बना सकते हैं यह खबर आपके लिए काफी फायदेमंद होगी क्योंकि इस फील्ड में वैसे तो बहुत सारे कोर्स उपलब्ध है.

परंतु आप एक आर्कियोलॉजिस्ट बनकर भी अपने भविष्य को सवार सकते हैं जो भी विद्यार्थी इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यों को पढ़ने और समझने में दिलचस्पी दिखाता है उसके लिए काफी मददगार साबित होगा. 

How To Become Archaeologist: इतिहास विषय में रुचि रखने वाले विद्यार्थी जिसने की 12वीं में भी हिस्ट्री सब्जेक्ट से पढ़ाई की हो तो आपके पास कुछ हटके करने का अवसर है कुछ विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो सभी लोगों से हटकर सपना देखते हैं और लीक से हटकर करने का सोचते हैं.

यदि आप भी इसी तरह कुछ डिफरेंट कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपके लिए ऑर्थोलॉजिस्ट काफी अच्छा ऑप्शन है आप एक बेहतर और क्यों लॉजिस्ट बनकर अपने सपने को पूरा कर सकते हैं.

क्योंकि हिस्ट्री के स्टूडेंट्स के लिए इस  फील्डमें काफी अच्छे अब सर रहते हैं आइए जानते हैं कि आप किस तरह आर्कियोलॉजिस्ट बन सकते हैं और हिस्ट्री से पढ़ने में आपको किस प्रकार का फायदा मिलेगा.

आर्कियोलॉजी और आर्कियोलॉजिस्ट क्या है ?

यदि आर्कियोलॉजी को चुनते हैं तो इसमें आपको पुरानी संस्कृति और सभ्यता ओं का वैज्ञानिक दृष्टि के आधार पर पढ़ाया जाता है और पुरातत्व या प्राचीन चीजों की खोज करना ही औरआर्कियोलॉजिस्ट का काम होता है.

इसका काम होता है कि वह इतिहास को संरक्षित और जोड़ कर रखें और ऐतिहासिक वस्तुओं और सब बताओ की खोज  करते रहें आपको बता दें कि जितने भी आधुनिक संग्रहालय है बनाए गए हैं उसका संरक्षण या देखभाल आर्कियोलॉजिस्ट ही करते हैं.

आर्कियोलॉजी के कोर्सेज

 इस क्षेत्र में जिस विद्यार्थी ने 12वीं कक्षा को इतिहास विषय से पास किया है वह आसानी से डिग्री या डिप्लोमा कोर्स से ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकता है क्योंकि इसके आधार पर कई कोर्स उपलब्ध है और देश में अनेक मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी में यह कोर्स संचालित किए जा रहे हैं और जिस विद्यार्थी को इतिहास जानने के लिए गहन रुचि और अध्ययन करने का मन है तो वह अपनी इच्छा के अनुसार अपने कोर्स को चुन सकता है और इतिहास को करीब से जान सकता है.

आर्कियोलॉजिस्ट में ये स्किल्स होनी है जरूरी 

  • जो भी विद्यार्थी यह कोर्स करना चाहता है उसके अंदर इन बातों का होना बहुत आवश्यक होता है.
  • आर्कियोलॉजिस्ट का दिमाग क्रिएटिव होना चाहिए.
  • इसके अंदर   धैर्यता का भाव होना चाहिए.
  • सभी चीजों को करीब से जानने की इच्छा होना चाहिए.
  • बात करने का तरीका और कम्युनिकेशन स्किल दोनों ही अच्छी होनी चाहिए.
  • किसी भी चीज को हड़बड़ी या जल्दबाजी में नहीं करना चाहिए आराम से हर चीज की खोज होगी इस भावना को मन में रखना चाहिए.

आर्कियोलॉजी में करियर स्कोप

जो भी युवा इस कोर्स में एडमिशन लेकर इसे पूरा कर लेता है उसके लिए काफी अच्छी जॉब उपलब्ध हो जाती है क्योंकि इस क्षेत्र में नौकरी की कमी नहीं होती है इस कोर्स को करने के बाद विद्यार्थी भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग नई दिल्ली के साथ ही सभी राज्यों में स्थित भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग में आसानी से नौकरी कर सकते हैं.

आपको बता दें कि समय-समय पर इन सभी जगहों पर भर्तियां निकलती रहती है और आप इन भर्तियों में आवेदन करके नौकरी प्राप्त कर सकते हैं यदि आप चाहें तो प्राइवेट सेक्टर में भी एक कैरियर से जुड़ी काफी जॉब उपलब्ध हैं आप अपनी इच्छा के अनुसार जिस भी जॉब को चुनना चाहते हैं सरकारी या  प्राइवेट सुन सकते हैं.

Scroll to Top