डोर टू डोर सर्वे कर छूटे हुए बच्चों का स्कूलों में नामांकन कराएं : कलेक्टर 

अप्रवेशी बच्चों की सूचना देने के लिए मोबाइल नंबर जारी, सूचना देने वाले व्यक्ति को किया जाएगा प्रोत्साहित

नर्मदापुरम। डोर टू डोर सर्वे कर ऐसे सभी छूटे हुए बच्चों का स्कूलों में नामांकन किया जाए। यह निर्देश कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने सभी विकासखंड स्त्रोत समन्वयको को दिए। उन्होंने कहा कि नर्मदापुरम, सिवनीमालवा, बनखेड़ी एवं माखननगर बच्चों के नामांकन में विशेष ध्यान दें। 

6 से 14 वर्ष के अप्रवेशी बच्चों की जानकारी देने के लिए मोबाइल नंबर भी जारी किया जाए। छूटे हुए बच्चों की सही जानकारी देने वाले व्यक्ति को प्रोत्साहित करें। कलेक्टर श्री सिंह ने बुधवार को कलेक्ट्रेट में शिक्षा विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों की विस्तार से समीक्षा की। 

जिला शिक्षा अधिकारी नर्मदापुरम ने बताया की जिले के नागरिक एपीसी श्री डीपी यादव के दूरभाष क्रमांक 9406945537 पर अप्रवेशी बच्चों की सूचना दे सकते है। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि समग्र आईडी के अभाव में नामांकन से वंचित बच्चों का समन्वय कर शीघ्र समग्र आईडी बनवाया जाए। 

उन्होंने बिना मान्यता के अनाधिकृत रूप से संचालित स्कूलों पर कार्यवाही कर उन्हे बंद कराने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि जिन प्राथमिक और माध्यमिक स्कूलों में नामांकन शून्य है। उन्हे बंद करने के लिए आवश्यक कार्यवाही की जाएं। 

उन्होंने पाठ्य पुस्तक वितरण, साइकिल वितरण की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिन बच्चों के खाते में साइकिल वितरण की राशी नहीं पहुंची हैं। उन्होंने खाता संबंधी सुधार कर शीघ्र राशि अंतरित की जाए। कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में खेल एवं युवा कल्याण विभाग अंतर्गत संचालित कार्यक्रमों की भी समीक्षा की। 

बताया गया कि खेलों इंडिया यूथ गेम्स के तर्ज पर खेलों इंडिया एमपी का आयोजन सितंबर माह में किया जाएगा। जिसमें ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तर पर कुल 26 खेलों का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर श्री सिंह ने बैठक में जनजातीय कार्य एवं पिछड़ा वर्ग विभाग अंतर्गत संचालित छात्रवृत्ति योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा कर निर्देशित किया कि कोई भी पात्र छात्र छात्रवृत्ति के लाभ से वंचित न रहे। 

उन्होंने पॉलिटेक्निक एवं आईटीआई में भी एडमिशन प्रक्रिया की जानकारी ली एवं आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में जिला शिक्षा अधिकारी श्री शत्रुंजय सिंह बिसेन सहित उक्त विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Scroll to Top