नर्मदापुरम: धान, ज्वार एवं बाजरा के उपार्जन के लिए किसान 20 सितंबर से 5 अक्टूबर तक करा सकेंगे पंजीयन

नर्मदापुरम: किसान भाई अपने आधार नंबर से बैंक खाता और मोबाईल नंबर को लिंक कराकर  अपडेट रखें| 

नर्मदापुरम: खरीफ विपणन वर्ष 2022-23 में समर्थन मूल्य पर धान, ज्वार एवं बाजार के उपार्जन के लिए किसान पंजीयन 20 सितंबर से 5 अक्टूबर तक किए जा सकेंगे। किसान पंजीयन की सुविधा को दृष्टिगत रखते हुए पंजीयन की प्रक्रिया निर्धारित की गई है। 

पंजीयन के लिए नि:शुल्क तथा सशुल्क दोनों व्यवस्थाएं उपलब्ध हैं। किसान भाई तहसील कार्यालयों में स्थापित सुविधा केंद्र, ग्राम पंचायत कार्यालयों में स्थापित सुविधा केंद्र, जनपद कार्यालयों में स्थापित सुविधा केंद्र, सहकारी समिति एवं सहकारी विपणन संस्थाओं द्वारा संचालित पंजीयन केंद्र तथा एमपी किसान ऐप से नि:शुल्क पंजीयन कर सकते हैं। 

इसी प्रकार लोक सेवा केंद्र, एमपी ऑनलाइन किओस्क, कॉमन सर्विस सेंटर तथा निजी व्यक्तियों द्वारा संचालित साइबर कैफे पर सशुल्क पंजीयन की व्यवस्था उपलब्ध है।

सिकमी, बटाईदार, कोटवार एवं वन पट्टाधारी किसान के पंजीयन की सुविधा केवल सहकारी समिति एवं सहकारी विपणन संस्था स्तर पर स्थापित पंजीयन केन्द्रों पर उपलब्ध होगी। इस श्रेणी के शत-प्रतिशत किसानों का सत्यापन राजस्व विभाग द्वारा किया जाएगा।

किसान द्वारा समर्थन मूल्य पर विक्रय उपज का भुगतान प्राथमिकता के आधार पर किसान के आधार लिंक बैंक खाते में किया जाएगा। किसान के आधार लिंक बैंक खाते में भुगतान करने में किसी कारण से समस्या उत्पन्न होने पर किसान द्वारा पंजीयन में उपलब्ध कराये गए बैंक खाते में किया जाएगा।

किसान पंजीयन के समय किसान को बैंक खाता नंबर और आईएफएससी कोड की जानकारी उपलब्ध करानी होगी। जनधन, अक्रियाशील, (विगत 6 माह से क्रियाशील न हो) संयुक्त बैंक खाते एवं फिनो, एयरटेल पेटीएम, एवं नाबालिग बैंक खाता पंजीयन में मान्य नहीं होगें।

पंजीयन व्यवस्था में बेहतर सेवा प्राप्त करने के लिए यह जरूरी होगा कि किसान अपने आधार नंबर से बैंक खाता और मोबाईल नंबर को लिंक कराकर उसे अपडेट रखें। वनपट्टाधारी  एवं सिकमी काश्तकार को पंजीयन के समय दस्तावेजों के साथ-साथ अनुबंध अथवा पट्टे की प्रति उपलब्ध करानी होगी। 

नवीन व्यवस्था में फसल बेचने के लिए किसान, निर्धारित पोर्टल से नजदीक के उपार्जन केन्द्र, तिथि और टाइम के लिए फसल अनुसार स्लॉट का चयन स्वयं कर सकेंगे। सामान्य तौर पर उपार्जन प्रारंभ होने की तिथि से उपार्जन समाप्त होने के एक सप्ताह पूर्व तक उपार्जन केन्द्र, तिथि टाईम हेतु स्लॉट का चयन किया जा सकेगा।

Scroll to Top