नर्मदापुरम: पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा के भाई पूर्व विधायक गिरिजाशंकर ने छोड़ी भाजपा , पार्टी पर लगाया उपेक्षा का आरोप

नर्मदापुरम। नर्मदापुरम से भाजपा विधायक और विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा के भाई और पूर्व विधायक गिरिजाशंकर शर्मा ने शुक्रवार को भाजपा पार्टी छोड़ दी है। गिरिजाशंकर शर्मा 2003 और 2008 में भाजपा से विधायक रहे है। शर्मा ने अभी तक यह स्पष्ट नहीं किया है कि वह किस पार्टी को जॉइन करेंगे। हालांकि डेढ़ माह पहले कांग्रेस अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने के लिए वे भोपाल स्थित उनके आवास पर पहुंचे थे, लेकिन उस समय उनकी मुलाकात नहीं हो पाई थी। पूर्व विधायक गिरिजाशंकर शर्मा ने कहा कि बीते 10 साल से अधिक समय से पार्टी उनकी उपेक्षा कर रही है। संगठन में नए लोग आ गए है, जो पुराने लोगों को लगातार दरकिनार कर रहे हैं। पुराने नेताओं की पूछपरख नहीं की जा रही है। कई बार लगता है कि संगठन से बातचीत की जाए, लेकिन संगठन में भी कोई सुनने वाला नहीं है।

भाजपा में भ्रष्टाचार चरम पर

प्रेस वार्ता में गिरजाशंकर शर्मा ने बताया कि आज वह भारतीय जनता पार्टी छोड़ रहे हैं क्योंकि भारतीय जनता पार्टी में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है और वह प्रदेश में स्वच्छ सरकार को देखना चाह रहे हैं आगे चुनाव में भी उसी पार्टी का साथ देंगे जो प्रदेश का नेतृत्व साफ सुथरा ढंग से कर सके। प्रदेश में बेरोजगारी बड़ रही हैं और महंगाई पर सरकार का कोई काबू नहीं है। अभी हाल में ही एक घोटाले में मुख्य सचिव का भी नाम आया है। मीडिया के सवाल पर कि अगर भारतीय जनता पार्टी से आपके भाई डॉ. सीता शरण शर्मा को टिकट मिलती है तो क्या आप उनके खिलाफ भी जाएंगे इस सवाल पर उन्होंने स्पष्ट जवाब किया कि मैं घर में लड़ाई नहीं चाहूंगा और मैं उनके साथ अवश्य दूंगा। कांग्रेस से चुनाव लड़ने की बात पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लोग परिपक्व हैं वह अगर वह टिकट चाहेंगे तो विचार किया जाएगा एवं आम आदमी पार्टी भी अगर मुझे चुनाव लड़ने का रहती है तो मैं उनका चुनाव में साथ दूंगा। 45 साल बाद पार्टी में रहने के बाद पार्टी छोड़ने के सवाल पर बोले कि भाजपा कार्यकर्ता तो ठीक है लेकिन उच्च पदों पर बैठे मलाई मार रहे हैं जो सेल्फ डिसीजन नहीं ले सकते और ऊपर के आदेश के पालन का ही पालन सकते हैं। मैं यह चाहता हूं कि प्रदेश में भाजपा सरकार नहीं बने इसके लिए जो योग्य पार्टी होगी उसका साथ अवश्य दूंगा।

कौन है गिरिजाशंकर शर्मा 

गिरिजाशंकर शर्मा जनसंघ से जुड़े रहे। वे बीजेपी के कद्दावर नेता रहे है। शर्मा दो बार नगर पालिका अध्यक्ष और दो बार विधायक रहे। भाजपा संगठन में उन्होंने जिला अध्यक्ष समेत कई जिम्मेदारियां निभाई। गिरिजाशंकर शर्मा विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष सीतासरन शर्मा के बड़े भाई है। सीतासरन शर्मा पांच बार से विधायक है। शर्मा परिवार नर्मदापुरम जिले की राजनीति में खासा दखल रखता है।

Scroll to Top