नए साल की हड़ताली में क्यों थम गए बसों और ट्रकों के पहिये  यहां जानिए पूरी जानकारी 

नमस्कार दोस्तों आज इस लेख में हम आपके लिए एक बहुत ही जरूरी खबर लेकर आए हैं आप सभी जानते हैं कि मध्य प्रदेश में नए साल के  दिन से ही बस और ट्रैकों के पहिए थम चुके हैं आज इस लेख में हम आपको इस बारे में सभी जानकारी विस्तार से बताने वाले हैं। 

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

यदि आप जानना चाहते हैं कि मध्य प्रदेश में आखिर क्यों ड्राइवर हड़ताल पर आ गए हैं तो यह लेख आपके लिए काफी फायदेमंद है इसे अंत तक जरूर पढ़ें।

Read Also –अपार कार्ड बनाने का आसान तरीका जानिए कैसे छात्र खुद ही बना सकते हैं अपना अपार कार्ड और पाएं यहां पूरी जानकारी

जाने क्यों थम गए बसों और ट्रकों के पहिये

आप सभी जानते हैं कि हर साल नए साल के दिन परिवार के साथ मिलकर कई लोग घूमने और छुट्टियां मनाने का प्लान बनाते हैं परंतु इस बार नए साल के दिन कुछ ऐसा हुआ जिसके कारण लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी और दिक्कतों का सामना करना पड़ा क्योंकि मध्य प्रदेश मेंबस और ट्रक के पहिए थम चुके हैं। 

क्योंकि मध्य प्रदेश में सभी जिलों के बस ड्राइवर हड़ताल पर बैठे हैं इस कारण बस यात्री काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस नई दिल्ली के अध्यक्ष के द्वारा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को एक पत्र लिखा गया है जिसमे ट्रक और यात्री बस चालकों की हड़ताल के बारे में जिक्र किया गया है। 

ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के अनुसार मंगलवार के दिन पूरे देश में ट्रांसपोर्टर की एक बहुत बड़ी बैठक होगी और इस बैठक में जब तक फैसला नहीं लिया जाता है तब तक यह हड़ताल जारी रहेगी।

ड्राइवरों का विरोध प्रदर्शन क्यों 

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

भारत सरकार द्वारा लागू किए गए ड्राइवर हिट and रन में संशोधन भारतीय न्याय संहिता की धारा 104(2) का बहुत ज्यादा विरोध किया जा रहा हैयह जो नया संशोधन लागू किया गया है वह इसलिए किया गया है ताकि कोई भी ड्राइवर एक्सीडेंट करने के बाद मौके से ना भाग सके।

यदि वह ऐसा करता है तो उसे 10 साल की सजा और आठ लाख रुपए का जुर्माना भरना होगा यह प्रावधान किया जा रहा है जिसके कारण ड्राइवर ने सरकार के प्रति काफी गुस्सा दिखाया है और नाराजगी जताते हुए इस कानून को वापस लेने की मांग की जा रही है।

हमारे ड्राइवर भाई भारत सरकार द्वारा लागू ड्राइवर हिट एंड रन में किए गए संशोधन भारतीय न्याय संहिता की धारा 104(2)) का कड़ा विरोध कर रहे हैं इस नए संशोधन के तहत सड़क हादसे के बाद मौके से भाग ने वाले चालक को 10 साल की सजा और 8 लाख रुपये के जुर्माने का प्रविधान किया जा रहा है। जिस बात से ड्राइवरों ने सरकार के प्रति अपनी नाराजगी जताई और इस कानून को वापस लेने की मांग की है। 

Read Also –Mukhyamantri Prakhand Parivahan Yojana 2024 : बिहार सरकार ने युवाओं के लिए लाए हैं शानदार योजना जानिए ऐसे करें आवेदन

ड्राइवर का कहना है कि किसी भी एक्सीडेंट की घटना को जान बूझकर नहीं किया जाता है और वाहन चालक के विरुद्ध एक्सीडेंट पर जो नया कानून लाया जा रहा है उसमें संशोधन निरस्त किया जाए क्योंकि यदि वाहन चालक घटना स्थल से नहीं भागेगा तो वहां की एकत्रित हुई भीड़ ड्राइवर को मारपीट करने के साथ-साथ जान भी ले सकती है। 

कहा कहा पड़ा इसका असर

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

पूरे प्रदेश में जो हड़ताल ड्राइवर द्वारा की जा रही है उसका असर पूरे प्रदेश में देखने को मिल रहा है सबसे ज्यादा दिक्कतों का सामना पेट्रोल पंप पर किया जा रहा है क्योंकि अभी से ही पेट्रोल पंप से पेट्रोल मिलना बंद हो गया है। 

यदि बात की जाए 80 परसेंट पेट्रोल पंप से पेट्रोल मिल ही नहीं रहा है और बिना पेट्रोल के तो आना जाना संभव ही नहीं है इस कारण लोग कड़कड़ा ती हुई सर्दी में सुबह 5:00 से ही पेट्रोल पंप की ओर दौड़ रहे हैं और कई पेट्रोल पंप पर पेट्रोल भी खत्म हो गया है। 

Read Also –Shramik Sulabh Awas Yojana : घर बनाने के लिए सरकार दे रही है डेढ़ लाख रुपए जानिए कैसे करें आवेदन

साथ ही हड़ताल का सीधा असर सब्जी मार्केट में भी आपको देखने को मिलेगा क्योंकि ट्रैकों और वाहनों के द्वारा ही सब्जी एक जगह से दूसरी जगह है पहुंचती थी परंतु अब सब्जी पहुंच नहीं पा रही है जिससे की सब्जी के भाव और बहुत तेजी से बढ़ेंगे और सब्जियां महंगी मिलेगी।

Scroll to Top