नर्मदापुरम: पीओपी की मूर्तियां के निर्माण और विक्रय पर रहेगा प्रबंध

  • सभी त्यौहार शांतिपूर्ण एवं आपसी सद्भाव से मनाएं
  • त्यौहारों पर साफ – सफाई, पेयजल, बिजली आपूर्ति का विशेष ध्यान रखें
  • जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक आयोजित

नर्मदापुरम। शांति समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि आगामी त्योहारों पर जिले में प्लास्टर ऑफ पेरिस (पीओपी) मूर्तियों के निर्माण एवं विक्रय पर प्रतिबंध रहेगा। साथ ही शांति समिति के सदस्यों ने जिले वासियों से आग्रह किया है कि अनंत चतुर्दशी के दिन ही प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाए। 

आगामी त्यौहारों पर कानून व्यवस्था के संबंध में बुधवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय के सभाकक्ष में कलेक्टर नीरज कुमार सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में शांति समिति के सदस्यों द्वारा आगामी पर्वो पर आवश्यक व्यवस्थाओं को लेकर चर्चा की गई एवं सुझाव दिए गए। 

बैठक में विधायक नर्मदापुरम डॉक्टर सीतासरन शर्मा, पुलिस अधीक्षक डॉ गुरकरन सिंह, विधायक प्रतिनिधि महेंद्र यादव, आचार्य गोपाल प्रसाद खड्डर, शहर काजी हाफिज अशफाक अली, मनोहर बडानी, अनोखी लाल राजोरिया,  फैजल उल हक हंस राय सिटी मजिस्ट्रेट संपदा सराफ, डीएसपी ट्रैफिक  संतोष मिश्रा, डीएसपी  रोहित राठौर, डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट श्री राजेश जैन सहित अन्य शांति समिति के सदस्य उपस्थित रहें।

कलेक्टर श्री सिंह ने सदन को संबोधित करते हुए कहा पूर्व की तरह जिले में आगामी पर्व भी शांतिपूर्ण एवं आपसी सद्भाव के साथ मनाए जाए। कलेक्टर श्री सिंह ने नगर पालिका को निर्देश दिए कि आगामी सभी पर्वों पर स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। 

त्योहारों के दौरान पेयजल, विद्युत आपूर्ति की भी बेहतर व्यवस्था रहें। उन्होंने राजस्व, पुलिस एवं होमगार्ड के अमले को स्नान पर्वों के दौरान घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। 

उन्होंने कहा कि ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू रहे। आगामी त्योहारों पर निकल जाने वाले चल समारोह, पंडालों आदि की विस्तृत सूचना संबंधित एसडीएम एवं  थाना क्षेत्र में दी जाएं।*

यह है आगामी प्रमुख पर्व

जिले में आगामी प्रमुख पर्व में 7 सितंबर को कृष्ण जन्माष्टमी, 14 एवं 17 सितंबर को स्नान दान अमावस्या, 17 सितंबर को विश्वकर्मा पूजा, 18 सितंबर को गणेश चतुर्थी, 20 सितंबर को पर्युषण, 25 सितंबर को डोल ग्यारस, 28 सितंबर को अनंत चतुर्दशी और ईद मिलान उन नबी तथा 29 सितंबर को स्नान दान व्रत पूर्णिमा पर्व मनाया जाएगा।

Scroll to Top