MP Goverment Latest News : मोहन यादव का धमाका 45 दिनों में शिवराज के कामों को छोड़ दिया पीछे जानिए  

MP Goverment Latest News : नमस्कार दोस्तों आप सभी जानते हैं कि मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद प्रदेश की बागडोर अब मोहन यादव के पास आ चुकी है और वही मुख्यमंत्री के तौर पर प्रदेश की कमान संभाले हुए हैं इस सरकार ने कार्यभार संभाले हुए केवल 45 दिन ही हुए हैं। 

उन्होंने प्रदेश में एक नई मिसाल कायम कर दी है तो चलिए जानते हैं ऐसे कौन से कम सरकार द्वारा किए गए हैं जिसके कारण शिवराज सरकार का नामो निशान मिटता जा रहा है जानने के लिए लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

Read Also –महिलाओं के लिए पोस्ट ऑफिस ने शुरू की है धमाकेदार स्कीम जानिए इस स्कीम के बारे में | Mahila Samman Bachat Patra Scheme

शिवराज के कामों के नामों निशान 45 दिनों में ही बदल दिए  

मध्य प्रदेश सरकार की कमान संभालते हुए मोहन यादव को 45 दिन पूरे हो चुके हैं इन 45 दोनों ने इस सरकार द्वारा कुछ इस तरह से हम फैसले लिए गए हैं जिन्हें के द्वारा मोहन यादव सरकार को एक नई पहचान मिलती जा रही है और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सरकार के कामों का नामो निशान मिट गया है।

डॉ मोहन यादव ने मध्य प्रदेश के लोगों के लिए कुछ हैरान कर देने वाले कदम उठा दिए हैं जिसके कारण जनता भी काफी खुश है मोहन सरकार द्वारा चार महत्वपूर्ण बदलाव किए जा रहे हैं जिसके कारण जनता का उन्हें जमकर प्यार मिल रहा है और जनता तहे दिल से उनकी तारीफ कर रही है। 

मध्य प्रदेश सरकार के द्वारा योजनाओं और कामों में जो बदलाव किए जा रहे हैं उसके बाद मध्य प्रदेश की जनता को इस बात काडर है की कहानी नए मुख्यमंत्री द्वारा शिवराज सिंह चौहान के कामों की निशानियां खत्म की जाएगी यदि आप नहीं जानते हैं कि वर्तमान में मोहन यादव द्वारा कौन-कौन से चार बड़े बदलाव किए जा रहे हैं तो जानने के लिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

45 दिनों में सरकार के चार बड़े बदलाव | MP Goverment Latest News

मध्य प्रदेश मेंनई सरकार बनते ही विकास का काम बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है और मुख्यमंत्री अपनी जिम्मेदारियां को बखूबी निभा रहे हैं सरकार द्वारा गठन किए गए नए कार्यकाल के 45 दिन पूरे हो चुके हैं और प्रदेश में इस दौरान चार बड़े बदलाव किए गए हैं।

  • बीआरटीएस को राजधानी से हटाना
  • दो विभागों का एकीकरण
  • अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई
  • मध्य प्रदेश में गान पर खड़े होने के नियम में बदलाव

Bhopai में BRTS को हटाना 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में राजधानी भोपाल के अंदर बीआरटीएस कॉरिडोर का निर्माण किया गया था इस कॉरिडोर को बनाने में करोड़ों रुपए का खर्च सरकार द्वारा किया गया था परंतु जब से इसका निर्माण किया गया है। 

दुर्घटनाएं बहुत बढ़ती जा रही है जिसके कारण इस पर कई तरह के सवाल खड़े किए जा रहे थे परंतु सरकार द्वारा अब बीआरटीएस को राजधानी से हटाने के बारे में योजना बनाई जा रही है परंतु सरकार को मोहर के साथ मंजूरी नहीं मिल पा रही थी।

मध्य प्रदेश में नई सरकार बनते ही सबसे पहले मोहन यादव ने इस मामले में ही पहली बैठक ली थी और दूसरी बैठक में राजधानी भोपाल से बीआरटीएस को हटाने के निर्देश जारी कर दिए भोपाल में बीआरटीएस को हटाने का काम 20 जनवरी से शुरू कर दिया गया है।

दो विभागों का एकीकरण

आप सभी जानते हैं कि शिवराज सरकार के कार्यकाल में चिकित्सा शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य विभाग दोनों अलग-अलग थे और इन दोनों विभागों में अलग-अलग मंत्रियों को नियुक्त किया गया था परंतु जब से मध्य प्रदेश की कमान डॉक्टर मोहन यादव के पास आई है उन्होंने बीते मंगलवार को ही इन दोनों विभागों को एक करने का फैसला ले लिया है और इन दोनों विभागों के लिए अब एक ही मंत्री नियुक्त किया जाएगा। 

सख्त कार्यवाही अधिकारियों पर 

प्रदेश में जब शिवराज सरकार थी तो अधिकारियों द्वारा जनता पर मनमानी की जाती थी परंतु मोहन यादव की सरकार ने सबकी लगाम कस कर पकड़ ली है और गुना से लेकर शाजापुर तक के सभी बड़े अधिकारियों को मनमानी करने पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दे दिए गए हैं। 

मुख्यमंत्री द्वारा इस बात को साफ तौर पर जाहिर कर दिया गया है कि जो भी अधिकारी जनता के साथ सही ढंग से पेश नहीं आएगी उन्हें माफ नहीं किया जाएगा सरकार आम लोगों द्वारा चुनी गई है और उनका काम सही ढंग से होना चाहिए।

मध्य प्रदेश गान में खड़े होने के नियम में बदलाव  

मध्य प्रदेश की नई सरकार के 45 दिनों के कार्यकाल में सबसे बड़ा बदलाव यह किया गया है जिसके बारे में सुनकर हर कोई काफी खुश है राज्य में 3 महीने पहले जब शिवराज सिंह की सरकार थी तो मध्य प्रदेश गान को सम्मान देने के लिए लोगों को खड़ा होने का निर्देश दिया जाता था। 

Read Also –Ladli Bahna Awas Yojana First Installment : सरकार ने जारी की पहली किस्त इन महिलाओं के खाते में आए 2 लाख रुपये

परंतु इस पर नहीं सरकार ने 25 जनवरी को खड़े होने के नियम में बदलाव करते हुए लोगों को बैठने को कहा है साथ ही मुख्यमंत्री द्वारा इस बात की जानकारी दी गई है कि भारत में राष्ट्रगान सबसे बड़ा और सबसे ऊंचा गण है उससे बड़ा कोई गण नहीं है इसलिए कोई फर्क नहीं पड़ता है कि मध्य प्रदेश गान में खड़े हो या ना हो।

Scroll to Top