प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना 2023| Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana 

pradhanmantri garib kalyan yojana ki shuruaat kab hui : नमस्कार दोस्तों आज इस लेख में हम आपको प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी शुरुआत 26 मार्च 2020 को कोरोना महामारी के समय 21 दिन के लॉकडाउन के आधार पर प्रारंभ की थी

जिससे गरीब जनता को ज्यादा परेशानी ना उठानी पड़े हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कई योजनाओं को पीएम जन कल्याण योजना के तहत आरंभ किया है

इस योजना का सही तरीके से संचालन करने के लिए करीब 1.70 करोड़ का पैसा लिया गया है इस योजना के माध्यम से 80 करोड़ लाभार्थियों को लाभ दिया जाएगा 

यदि आप भी pradhanmantri garib kalyan yojana in hindi योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो आप बिल्कुल सही जगह पर आएं आज इस लेख में इस योजना के बारे में हम आपको विस्तार से सभी जानकारी देने वाले हैं तो आइए जानते हैं इस योजना के बारे में

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना क्या है? (Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana kya hai )

कोरोना महामारी संक्रमण की दूसरी लहर के कारण कई राज्यों में लॉकडाउन लगा दिया गया था और इस कारण पीएम गरीब कल्याण योजना से राशन उपलब्ध कराया  जा रहा था इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र व्यक्तियों को लाभ पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा अन्य प्रयास किए जा रहे थे

इस योजना का लाभ देश में रहने वाले आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिकों जैसे ऑटो चलाने वाले फ्री वाले कूड़ा उठाने वाले प्रवासी मजदूरों को दिया जा रहा था 

इस जानकारी को कोरोना काल में डीएफपीडी के सचिव सुधांशु पांडे द्वारा दी गई थी प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना एक कल्याणकारी योजना साबित हुई जिसने देश की जनता को भुखमरी से बचाया है

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का उद्देश्य 

कई परिवार होते हैं जो मेहनत मजदूरी कर अपने जीवन को चला रहे हैं परंतु जब देश में कोरोना महामारी फैली हुई थी तो 21 दिन के लिए अलाउड डाउन लगा दिया गया था उस समय मजदूरी भी करने को नहीं मिल पा रही थी 

जिसके कारण मजदूरों को खाने-पीने की दिक्कतों का सामना करना पड़ा करण देश में भुखमरी फैलने लगी इस समस्या को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने राशन सब्सिडी योजना की घोषणा की इस योजना के माध्यम से देश के नागरिक सब्सिडी पर प्रत्येक महीने 7 किलो राशन ले सकते हैं जिससे उन्हें खाने की किल्लत नहीं पढ़े और घर बैठे आसानी से अपना गुजारा कर सके

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को 1 साल और बढ़ा दिया गया है 

2023 के केंद्रीय बजट में देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा करते हुए बताया है कि पीएम गरीब कल्याण योजना को 1 साल के लिए और बढ़ा दिया गया है और केंद्र सरकार की ओर से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवारों को फ्री में राशन दिया जाएगा 

इस योजना के माध्यम से एक व्यक्ति पर 5 किलो का राशन दिया जाएगा इस योजना का शुभारंभ 2020 में किया गया था और गरीब परिवारों को इसका लाभ 7 चरणों में दे दिया गया है

परंतु 1 फरवरी 2023 से इस योजना को 1 साल के लिए फिर से बढ़ा दिया गया है और भारत का कमजोर वर्ग के परिवार को 2024 तक इस योजना का लाभ मिलेगा

759 लाख मैट्रिक टन खाद्यान्न 8 करोड़ लाभार्थियों को आवंटित किया गया 

इस योजना को भारत सरकार द्वारा मार्च 2020 में शुरू किया गया था और इसके अंतर्गत 80 करोड लोगों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम द्वारा फ्री में खाद्य सामग्री बांटी गई थी इस योजना को देश के नागरिकों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए प्रारंभ किया था

जिन परिवारों को पहले सामान्य रूप से राशन लिया जाता था इस योजना की शुरू हो जाने के बाद उन्हें दुगना पहचान लिया जाने लगा था 5 चरणों तक पहुंचते इस योजना के माध्यम से देश के करीब 80 करोड़ लाभार्थी हो चुके थे 

जिन्हें 759 लाख मैट्रिक टन खाद्य सामग्री बांटी जा चुकी थी इस खाद्य सामग्री की सब्सिडी करीब2.6 लाख करोड़ रुपए के बराबर है और करीब 580 लाख मेट्रिक टन खाद्य सामग्री लाभार्थियों को बांटी जा चुकी है 

गरीब कल्याण योजना का लाभ लेने के लिए ईसीआर होना जरूरी है

भारत में संचालित बहुत सारे संस्थान हैं इनमें से कुछ ने डिक्लेरेशन फॉर्म भर दिया है परंतु कुछ ऐसे संस्थान हैं जिन्होंने ecr जमा नहीं किया है उन्हें इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा उन संस्थानों को जल्द से जल्द ईसीआर जमा कर देना चाहिए 

इस योजना का लाभ लेने के लिए कई लोगों ने भी अपना आधार कार्ड केवाईसी नहीं करवाया है तो उन्हें भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना पैकेज 

इस योजना की घोषणा हमारे देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जीने की है और इस पर1.70 लाख रुपए का बजट दिया गया है इस योजना का शुभारंभ कोरोनावायरस समय किया गया था और हर सेक्टर के लिए अलग-अलग वैसे दिए गए हैं.

स्वास्थ्य कर्मियों के लिए बीमा योजना

जो भी डॉक्टर कोरोना महामारी से संक्रमित मरीज का इलाज करेंगे और इस दौरान उनकी मृत्यु हो जाती है तो उन्हें ₹5000000 कभी मार दिया जाएगा केंद्र और राज्य सरकार के अंतर्गत आने वाले सभी अस्पतालों में इस योजना को लागू किया गया था.

इन सभी अस्पतालों में काम करने वाले कर्मचारियों को ₹22000 का बीमा दिया गया था जो कि अस्पताल की साफ-सफाई आशा कार्यकर्ता वार्ड बॉय तकनीशियन सभी को दिया जाता था.

पीएम गरीब कल्याण योजना

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार ने सभी राशन कार्ड धारक लोगों को मुफ्त अनाज देने की घोषणा की थी और करीब देश की 800000000 नागरिकों तक इस योजना का लाभ पहुंचाया गया था इस योजना को पहले केवल 3 महीने के लिए ही शुरू किया गया था परंतु परिस्थितियों को देखते हुए इसके विस्तार को आगे बढ़ा दिया गया.

पीएम किसान योजना

इस योजना के अंतर्गत आने वाले सभी किसान भाइयों को साल में 3 बार ₹2000 किस्त के रूप में दिए जाएंगे इस घोषणा को 2020 मे शुरू किया और घोषणा के पहले हफ्ते ही किसानों के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिए.

इस योजना का लाभ लगभग 8.7 करोड़ किसानों को प्राप्त हुआ था जिससे किसान के चेहरे पर एक मुस्कुराहट आ गई थी क्योंकि इन पैसों से वह अपने परिवार का कुछ गुजारा कर सकता है

निर्माण श्रमिकों के लिए राहत पैकेज

जो भी बिल्डिंग एवं कंस्ट्रक्शन का काम करते थे उनके लिए वर्कर वेलफेयर फंड का शुभारंभ किया गया था इस फंड के माध्यम से इन श्रमिकों को आर्थिक सहायता पहुंचाई जाती थी.

केंद्र और राज्य सरकार द्वारा हर क्षेत्र में एक बेहतरीन कदम उठाया गया था जिसने देश की आर्थिक व्यवस्था को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाई.

मनरेगा

इस योजना के माध्यम से मनरेगा में मजदूरी करने वाले लोगों के वेतन को बढ़ाने का भी फैसला लिया गया था पहले मनरेगा मजदूरों को ₹182 दे दिया जाता था.

परंतु उनकी मजदूरी को बढ़ाकर अब ₹202 कर दिया गया है और इस योजना का लाभ करीब 13.62 परिवारों को पहुंच चुका है.

जन धन अकाउंट

कुछ दिनों पहले ही सरकार द्वारा जन धन अकाउंट खोला गया था जिन भी महिलाओं का यह अकाउंट खुलवाया था उन्हें 3 महीने तक ₹500 दिए गए थे ताकि इन पैसों से अपना खर्चा चला सके और इस योजना के माध्यम से करीब 20 करोड़ महिलाओं के खाते में 3 महीने तक ₹500 ट्रांसफर किए गए थे

डिस्ट्रिक्ट मिनिरल्स फड

इस योजना के पैकेज के अंतर्गत केंद्र और राज्य सरकार में सभी डिस्टिक मिनिरल फंड का उपयोग करने के लिए आदेश जारी कर दिए थे जिसके कारण कोरोना वायरस संक्रमण पर कुछ रोकथाम की जा सके.

वरिष्ठ नागरिक विधवा एवं दिव्यांग आर्थिक सहायता

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से देश में उपस्थित सभी 60 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्ग विधवाओं और दिव्यांग नागरिकों को 3 महीने तक ₹1000 की आर्थिक सहायता दी गई थी जिसके माध्यम से लगभग 3 करोड लोगों को लाभ मिला था.

Q. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत कब की गई थी?

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की शुरुआत 30 जून 2020 की गई थी

Q. प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना कब तक है?

31 दिसंबर 2023

अंतिम शब्दों में – Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana 

दोस्तों आज के इस लेख में हमने आपको Pradhanmantri Garib Kalyan Yojana के बारे में विस्तार से सभी जानकारी बताइए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा गरीब किसानों के हित के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालन की जाती है यह सभी योजनाएं किसानों के हित की ही योजना है ऐसी ही योजना उन्होंने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना बनाई है.

इस योजना के द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी इस लेख में हमने इस योजना से जुड़ी सभी जानकारी साझा की है.

आशा करते हैं दोस्तों हमारे द्वारा दी गई जानकारी से अब खुश होंगे इसी प्रकार और भी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करें और ऐसा भी जानकारी आप अपने मित्रों को जरूर शेयर करें धन्यवाद.

Scroll to Top