World Cup 2023: ये रहे विश्व कप इतिहास के 4 सबसे बड़े उलटफेर, भारत के शानदार प्रदर्शन की तस्वीरें देखें

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

World Cup 2023: भारत की मेजबानी में जो वर्ल्ड कप खेला जा रहा है उसके अंदर तीन दिनों में दो बहुत ही बड़े उलट फेर हो चुके हैं जिसने पूरी क्रिकेट की दुनिया को ही हिलाकर रख दिया है और यह बहुत ही चर्चा का विषय बन चुका है

भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया में क्रिकेट के दीवाने करोड़ों लोग हैं और भारत की मेजबानी में जो world Cup  खेला जा रहा है उसके अंदर पिछले तीन दिनों में दो बड़े ऐसे गजब के उलट फेर देखने को मिले हैं जिनसे की पूरा क्रिकेट जगत ही हैरान रह गया है.

जब रविवार के दिन england को afghanistan ने 69 रन से हराया था इस बात से लोग उभर ही नहीं पाए थे कि अचानक से मंगलवार के दिन South Africa की टीम को Netherlands ने 48 रन से हरा दिया जो लोग स्टेडियम में बैठकर मैच देख रहे थे वह समझ ही नहीं पा रहे थे कि आखिर हो क्या रहा है.

इन दोनों Match ने खिलाड़ियों के दिमाग की बत्ती ही गुल कर दी हैऔर इन दो match के कारण world cup कप और भी ज्यादा रोमांचक होता जा रहा है वैसे तो ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है कि वर्ल्ड कप में ऐसे उलट फेर देखने को मिल रहे हो.

पहले भी कई बार World cup के Match में उलट फेर देखने को मिला था तो चलिए जानते हैं पहले World cup इतिहास में 4 सबसे बड़े उलट फेरों को विस्तार से –

Read Also – मोहम्मद सिराज ने मचाया तहलका, एक ही ओवर में 5 OUT

साल 1983 India ने west indies की हैट्रिक नहीं बनने दी

जब 1983 में वर्ल्ड कप मैच खेला जा रहा था तब यह मैच India Vs west indies के बीच था लोगों को उम्मीद ही नहीं थी कि भारत world Cup  के शुरुआती मैचो को जीतेगा फिर वर्ल्ड कप के खीताब के बारे में तो बात की ही ना जाए तो अच्छा रहेगा.

जब 1983 मेंदो बार की विश्व चैंपियन रहीविंडीज  टीम को भारतीय खिलाड़ियों ने 140 रन पर ही Out कर दिया शायद आपको यकीन नहीं होगा परंतु यह बात सच हैजब यह वर्ल्ड कप खेला जा रहा था तो भारत ने पहले बल्लेबाजी की और 32 ओवर में चार विकेट पर 100 रन बनाएं,

India did not allow West Indies to score a hat-trick.-min

जैसे तैसे विकेट गिरते गए और आखिरी विकेट की साझेदारी तक भारत 183 रन बनाने में कामयाब हो चुका और ऐसे खेल के बाद सभी लोग समझ गए थे कि अब भारत मैच हार जाएगा. परंतु जब विंडीज टीम ने बल्लेबाजी की और भारत के खिलाड़ी बलविंदर संधू ने ग्रीनीश को आउट कर दिया,

उसके बाद लगातार अंतराल पर विकेट गिरने लगेऔर लास्ट में जब कपिल देव ने अपनी उलटी दिशा केकैच को दौड़ते हुए पकड़ लिया जिसके कारण उनका नाम सुनहरे अक्षरों से इतिहास के पन्नों में लिखा जा चुका हैऔर सभी को बहुत हैरानी हुई कि जिस टीम के लिए उम्मीद नहीं की जा रही थी कि वह शुरुआती मैच जीतेगा उसने वर्ल्ड कप जीत लिया.

साल 1996 kenya cricket team ने विंडीज को चौंकाया

जब 1996 में भारत की मेजबानी में विश्व कप खेला जा रहा था तबविंडीज को 73 रन से कन्या ने हरा दिया थाविंडीज की हार से पूरे वर्ल्ड कप में हाहाकार मच गया और इस मैच में हर के बाद कप्तान ने सभी लोगों से माफी मांगी कन्या की टीम ने पहले बल्लेबाजी की और केवल 166 रन ही बना पाई.

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

इसके बाद यह साफ हो गया था कि अब मैंविंडीज ही जीतने वाली है और इसमें कोई और मत था ही नहींसाफ तौर पर सभीलोगों को लग रहा था कि अब मैं एक तरफ खेला जाएगा.

लेकिन अचानक से स्टेडियम में भूचाल आया और केन्या के खिलाड़ी वॉल्श और हॉर्परने तीन-तीन विकेट लिए जिसके कारण विंडीज टीम मात्र 93 रन पर ही ऑल आउट हो गई जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी.

Read Also – रिजर्व-डे पर भी भविष्यवाणी! IND-PAK मैच से फाइनल में कौन सी टीम पहुंचेगी

साल 2007 bangladesh ने किया India का सपना कर खराब 

जब 2007 का वर्ल्ड कप भारत और बांग्लादेश के बीच में खेला जा रहा थाइस मैच मेंक्रिकेट के बेहतरीन खिलाड़ीसचिन तेंदुलकर राहुल द्रविड़ और युवराज सिंहटीम का हिस्सा थे इसके बाद भीभारतीय टीम केवल 191 रन पर ही सीमित कर रह गई.

In the year 2007, Bangladesh spoiled India's dream.-min

बांग्लादेश के खिलाड़ी मसरत मुर्तजा और अब्दुल रज्जाक नेबेहतरीन बोलिंग करते हुएभारतीय टीम पर दबाव बनाया और साथ हीतमीम इकबाल जो केवल 18 साल के ओपनर थे इन्होंने बेहतरीन 51 रन की पारी खेलीऔर इसी कड़ी में मुश्फिकुर रहीम और शाकिब-हल-हसन ने साझेदारी निभाने मेंउनके साथ दिया.

बांग्लादेश ने भारत पर ऐतिहासिक जीत हासिल की औरपोर्ट-ऑफ-स्पेन में भारत को पांच विकेट से हराया, उम्मीद की जा रही थी कि 2007 का वर्ल्ड कप भारत ही जीतेगा परंतु अचानक से ऐसा पासा पलटा  कि भारत को मुंह की खानी पड़ी.

साल 2011 Kevin O’Brien ने किया इंग्लैंड को ढेर किया 

2011 के वर्ल्ड कप में जब मैच बेंगलुरु में खेला जा रहा थाऔर इस मैच में पूरी उम्मीद थी कि इंग्लैंड ही वर्ल्ड कप जीतेगा परंतु अचानक सेकुछ ऐसा हुआ कि आयरलैंड ने इंग्लैंड की टीम को करारी मात दी और वर्ल्ड कप को अपने नाम किया.

जाहिर सी बात थी सब समझ रहे थे कि इंग्लैंड ही जीतेगा और इंग्लैंड ने 8 विकेट पर 327 रन बनाए थेपहले से ही आयरलैंड की टीम पर दबाव बना हुआ था और जब ऐसा हुआ तो टीमऔर सदमे में चली गई 

जब यह मैच शुरू हुआ.तो आयरलैंड का खाता खुला ही नहीं था उससे पहले ही उसके ओपनरविलियम पोर्टरफील्ड आउट होगए लेकिन धीरे-धीरे केवल तो ब्राउन ने 13 चौके और छह चाको से 50 गेंद में शतक जड़ दिया.

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

जिससे कि अंग्रेजों की आंख चकरा गई और साथ हीटीम के कोच जॉनेथनटोट ने 92 और यह बेलन 81 रन बनाएंऔर जब केविन आउट हो गए.

तो इसके बाद मुनि ने नया 33 रन से बनाने के बाद भी आयरलैंड के पास पांच balls बची हुई थीपरंतुपहले हीटीम ऐतिहासिक जीत हासिल कर चुकी थी.

Read Also – आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 मैच में होगी बड़ी बदलाव, Playing 11 में इन प्लेयर्स को मिलेगा गोल्डन चांस!

Scroll to Top