Pradosh 2023: रवि प्रदोष का यह उपाय कैरियर में तेजी से तरक्की दिलाएगा करते ही मिलेगा प्रमोशन

Ravi Pradosh Vrat 2023 Upay: सावन का महीना चल रहा है और यदि ऐसे में आप बाबा महाकाल को प्रसन्न करना चाहते हैं तो सावन में कुछ महत्वपूर्ण व्रत होते हैं  जिनका व्रत करने पर आपको विशेष फल प्राप्त होता है और आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

जैसे कि सावन सोमवार मंगला गौरी व्रत प्रदोष व्रत आदि यदि आप अपनी नौकरी में तरक्की करना चाहते हैं तो आपको सावन में आने वाले रविवार के दिन रवि प्रदोष व्रत में कुछ उपाय करना होगा।

Pradosh Vrat Upay 2023: हिंदू धर्म में सावन के महीने का बहुत अधिक महत्व होता है क्योंकि यदि कोई भी भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करना चाहता है तो यह महीना बेहद खास होता है क्योंकि सावन का संपूर्ण महीना भगवान शिव के लिए ही समर्पित होता है।

कोई यदि इस महीने की प्रदोष व्रत को करता है तो उसका विशेष फल प्राप्त होता है इस बार सावन के महीने में अधिक मास जुड़ जाने से यह महीना 1 महीने की वजह 2 महीने का हो गया है इसलिए महीने में 2  प्रदोष की बजाय चार प्रदोष व्रत पढ़ेंगे।

अधिक मास का सबसे आखिरी प्रदोष 13 अगस्त 2023 के दिन रविवार को होगा इस कारण इसे रवि प्रदोष व्रत कहा जाता है प्रदोष के दिन सभी भक्त शाम के समय प्रदोष काल में ही भगवान शिव की पूजन करते हैं।

क्योंकि प्रदोष काल में प्रदोष के दिन पूजन करने का विशेष महत्व मिलता है यदि आप अपने कैरियर में तरक्की के नए रास्ते खोलना चाहते हैं तो प्रदोष के दिन उपाय को अवश्य करें।

प्रदोष व्रत पूजा मुहूर्त 

सावन अधिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि 13 अगस्त की सुबह 8:19 बजे से शुरू होकर 14 अगस्त सोमवार को सुबह 10 : 25 मिनट तक रहेगा परंतु प्रदोष की पूजा का मुहूर्त 13 तारीख की शाम 7:03 से रात 9:12 तक रहेगा।

इसके बाद पूजा का मुहूर्त नहीं रहेगा यह पूजा का सबसे शुभ मुहूर्त रहेगा श्रावण मास के इस प्रदोष के दिन पुनर्वसु नक्षत्र रहेगा और साथ ही इस  दिन सिद्धि योग भी बन रहा है इसलिए यदि आप रवि प्रदोष व्रत का नियम धारण कर पूजा उपाय करते हैं तो यह आपके लिए काफी चमत्कारिक और फायदेमंद होगा।

क्योंकि हिंदी पंचांग के अनुसार एस प्रदोष व्रत पूजा मुहूर्त का विशेष महत्व है वैसे तो महीने में पढ़ने वाले सभी प्रदोष अपनी अपनी जगह महत्वपूर्ण होते हैं।

परंतु सावन का महीना भोलेनाथ को काफी प्रिय है इसलिए इसमें पढ़ने वाले प्रदोष भी  भगवान भोलेनाथ को समर्पित होते हैं।

जानिए नौकरी में तरक्की पाने के लिए करें ये सरल उपाय 

यदि आपके जीवन में किसी भी प्रकार की समस्या चल रही है जिसके कारण आपकी नौकरी में परेशानी हो रही है तो आपको जीवन में असर सफलता प्राप्त करने के लिए इस रवि प्रदोष के दिन कुछ उपाय करना होगा जिन से आपको काफी फायदा मिलेगा।

रवि प्रदोष के दिन आपको व्रत का नियम लेना है और शुभ मुहूर्त में भगवान शिव की पूजा उनके सह परिवार के साथ करनी है और पूजा संपन्न हो जाने के बाद आपको शिवलिंग पर एक मुट्ठी गेहूं के  साबुत दाने चढ़ाने हैं आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि जब आप पूजन करें तब आपको किसी से बोलना नहीं है यह उपाय आपकी कैरियर में काफी तरक्की दिलाएगा।

किसी ब्राह्मण या पंडित द्वारा आपको यह बताया गया है कि आपकी कुंडली में सूर्य बहुत कमजोर है इस कारण आपकी तरक्की में कुछ परेशानी आ रही है और आपका मनोबल भी कम होता जा रहा है तो आपको रवि प्रदोष के दिन सुबह नहाकर भगवान सूर्य देव को जल समर्पित करना है।

इस जल में आपको लाल फूल लाल चंदन गुड़हल का फूल डालकर भगवान शिव को अर्घ्य दें और सूर्य को अर्घ्य देने के बाद आप अपने हाथों से सवा किलो गेहूं का दान करें इस उपाय को करने के बाद आपकी कैरियर में जो तरक्की होगी उसका आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते हैं।

आप अपनी सभी मनोकामनाएं पूर्ण करना चाहते हैं अपने जीवन में धन-संपत्ति पाना चाहते हैं तो प्रदोष के दिन भगवान भोलेनाथ के मंदिर में जाकर किसी भी शिवलिंग पर 21 बेलपत्र चढ़ाएं।

आपको बेल पत्ती के सीधे भाग पर लाल चंदन और उल्टे भाग पर पीला चंदन लगाना है और बीच में ओम लिखकर भगवान शिव को बिल पत्ती समर्पित करें और साथ ही आप श्री शिवाय नमस्तुभयम का जाप भी करते रहे।

अंत में आप एक बिल पत्र अपने घर वापस ले आए भगवान शिव से अपनी इच्छा बोलकर आपकी धन से संबंधित सभी परेशानी दूर हो जाएगी।

यदि आपके जीवन में बहुत ही कठिन समय चल रहा है तो आप भगवान भोलेनाथ को बिल पत्ती के साथ काटे और एक बिल पति चढ़ाएं भगवान शिव को कांटे आपको अशोक सुंदरी वाली जगह पर चढ़ाना है।

बाबा से विनती करनी है कि हे शंभू इन कांटों को चढ़ाकर ने अपने जीवन की सभी दुखों को समाप्त करना चाहता हूं इस तरह से आपके जीवन में जो कठिनाइयां विपदा आई है वह बहुत जल्द ही दूर हो जाएगी।

Scroll to Top