Narmadapuram: नर्मदा के पर्यटन स्थल सूरज कुंड मकर संक्रांति पर विशाल भंडारा 

सूरज कुंड : दोस्तों वैसे तो नर्मदा के सविता और घाटकी सभीघाट की महिमा हैमान्यता है कि इसके हर कंकर को शिव शंकर के रूप में पूजा जाता हैकई धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मां नर्मदा को मध्य प्रदेश के जीवन रेखा माना जाता है।

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

लेकिन मां नर्मदा के घाटों में से एक घाट सूरजकुंड भी है जो मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले से 25 किलोमीटर दूर बाबई ब्लॉकमें आता है यहां मानता है की यहां स्नान करने सेमनुष्य के चर्म रोग दूर हो जाते हैं।

यहां हजारों-लाखों लोग पूर्णिमा, अमावस्या, नर्मदा जयंती, महाशिवरात्रि सहित अन्य बड़े पर्वों पर स्नान व पूजन-अर्चन और भंडारे करते हैं।इस स्थान को मध्य प्रदेश शासन के द्वारा पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है।

सूरजकुंड घाट पर हैं स्नान की सुविधाएं

मध्य प्रदेश पर्यटन विभाग के द्वारा सूरजकुंड कोपर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है यहां शासन के द्वारा पक्का घाट बनाया गया है और लाइट ,साफ सफाई जैसी कई सुविधाएं यहां पर उपलब्ध है यहां साल भर सुबह शाम हजारों श्रद्धालु आस लगाए आते हैं और भगवान उन सभी लोगों पर अपनी कृपा के माध्यम से आशीर्वाद भी देते हैं।

Read also – Bebe Nanki Ladli Beti Kalyan Yojana : 2137 बेटियों को मिलेगा लाभ जल्दी करें रजिस्ट्रेशन  

राम जानकी सेवा समिति के द्वारा भंडारा

सूरजकुंड घाट पर वैसे तो साल भर भंडारे चलते रहते हैं लेकिन मकर संक्रांति के अवसर पर राम जानकी सेवा समिति के द्वारा कई सालों से भंडारा किया जा रहा है। इस साल भी यह भंडारा मकर संक्रांति के दिन हो रहा है समिति के द्वारा बताया है हजारों लोग इस भंडारे में प्रसाद ग्रहण करते हैं। 

Join Telegram Group Now
Join Facebook Group Now
JOIN Whatsapp Group Now

महिलाओं के लिए बड़ी खुशखबरी CM मोहन यादव ने विधवा पेंशन 600 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये कर दी 

Scroll to Top